इस बच्ची की हैंडराइटिंग दुनिया में सबसे सुंदर हैंडराइटिंग मानी जाती है

दुनिया में सभी लोगों की हैंडराइटिंग अलग-अलग प्रकार की होती है, कुछ लोगों की हैंडराइटिंग अच्छी होती है और कुछ लोगों की बुरी भी होती है। हम सभी बचपन में सुंदर लिखने का प्रयास करते हैं और अधिकांश लोग लंबे समय तक अपनी लिखावट को सुधारने की आशा में रहते हैं। सुंदर लेखनी व्यक्ति के प्रभाव को पढ़ने वाले पाठक पर छोड़ती है और यही कारण है की अधिकांश छात्र सुंदर कर्सिव राइटिंग लिखने का प्रयास करते हैं। कई लोग अपने-अपने देशों में होने वाली लेखन प्रतियोगिता में बढ़-चढ़कर भाग भी लेते हैं।

प्रकृति मल्ला, जिन्हें सबसे सुंदर हैंडराइटिंग लिखावट के लिए जाना जाता है।

प्रकृति मल्ला, नेपाल में रहने वाली यह 8 वर्षीय बालिका जिन्हें सबसे सुंदर लिखावट का वरदान प्राप्त है। किसी प्रकार से प्रकृति की लिखावट सोशल मीडिया पर रातो रात वायरल हो गई और उनके इस कौशल को पूरे विश्व में देखा। सोशल मीडिया ने प्रकृति के अतुलनीय प्रतिभा को निखारने में सबसे ज्यादा योगदान दिया और प्रकृति इसकी बराबर की हकदार भी हैं।

अच्छी लिखावट किस प्रकार पढ़ने वाले पाठकों को अपनी तरफ आकर्षित करती है, यह तो हम सभी को पता है और प्रकृति की लेखनी भी कुछ इसी प्रकार की है, जिससे पाठक उनकी लिखावट की तरफ आकर्षित हो जाते हैं। प्रकृति बचपन से ही लिखने की प्रैक्टिस करती आ रही हैं यही कारण है कि आज उनकी लिखावट इतनी सुंदर व आकर्षक है।

कंप्यूटर फॉण्ट डिजाइन की तरह है प्रकृति की लिखावट

प्रकृति की लेखनी कंप्यूटर के पार्ट की तरह है। उनके लेखनी में उनके अक्षरों के बीच की दूरी अक्षरों का स्थान और उनकी आकृति सभी यथासंभव सही स्थिति में होते हैं। पढ़ने वाले को यह पता ही नहीं चलेगा कि यह हाथों से लिखा गया है या फिर प्रिंट किया गया है। लेखन की इस प्रतिभा के कारण प्रकृति को आज पूरा विश्व जान रहा है। प्रकृति ने लेखनी का एक नया स्तर पूरे विश्व के समक्ष प्रस्तुत किया है। अतः उनके लेखन को नेपाल में सर्वश्रेष्ठ लिखावट के रूप में चुना गया।

नेपाल सरकार द्वारा आयोजित सुंदर हस्त लेखन प्रतियोगिता में प्रथम

most beautiful good handwriting

प्रकृति ने नेपाल सरकार द्वारा आयोजित पेनमैनशिप प्रतियोगिता में सबसे सुंदर हस्त लेखन का खिताब जीता। इसके बाद वहां की सरकार ने आधिकारिक तौर पर प्रकृति के लेखनी को सबसे खूबसूरत हस्ताक्षर के रूप में घोषित किया। सुंदर लिखावट के लिए प्रकृति रोजाना 2 घंटे का प्रेक्टिस किया करती है, जिस कारण उनकी  हैंडराइटिंग इतनी सुंदर है। इसके अलावा ऑनलाइन कई लोगों ने प्रकृति के लेखन शैली को कंप्यूटर फॉण्ट में बदलने की सलाह दी है।

यह भी पढ़ें – Google के free Courses | With Certification 2022

1992 में हुए एक अध्ययन के अनुसार

सन 1992 में हुए एक अध्ययन के अनुसार, यह पाया गया कि दूसरी चौथी और छठवीं कक्षाओं में सबसे ज्यादा लेखनी का कार्य किया जाता है। यदि इन कक्षाओं में बच्चों को अच्छी हैंडराइटिंग बनाने की प्रैक्टिस कराई जाए तो सभी बच्चों की हैंडराइटिंग काफी सुंदर हो सकती है, क्योंकि यही समय होता है जब बच्चे कागज और पेंसिल पर सबसे ज्यादा अपना समय व्यतीत करते हैं। अध्ययन में यह भी पाया गया कि सभी बच्चे लगभग 42% समय कागज और पेंसिल के साथ व्यतीत करते हैं।
इसके अलावा अच्छी लिखावट की आवश्यकता हमें स्नातक के बाद भी होती है। कई प्रतियोगी परीक्षाओं में सुंदर हैंडराइटिंग के कारण थोड़े नंबर अधिक मिल जाते हैं।

2017 में सोशल मीडिया के माध्यम से सुर्खियों में आई थी प्रकृति

नेपाल के सैनिक आवासीय महाविद्यालय में पढ़ने वाली प्रकृति मल्ला सन 2017 में सोशल मीडिया के माध्यम से सुर्खियों में आई थी। प्रकृति कक्षा आठ की छात्रा है  और वह प्रतिदिन अपनी हैंडराइटिंग सुधारने का प्रयास करती रहती हैं।

यदि आप भी अपनी Handwriting को बेस्ट बनाना चाहते हैं तो आपको रोजाना कम से कम 1 पेज तो लिखना ही चाहिए। यदि आप रोजाना 1 पेज राइटिंग लिखते हैं तो जल्द ही आपकी लिखावट बहुत ही सुन्दर हो सकती है। तो क्या आप भी अपनी लिखावट को सुधारना चाहते है? हमें जरूर बताएं ।

3 thoughts on “इस बच्ची की हैंडराइटिंग दुनिया में सबसे सुंदर हैंडराइटिंग मानी जाती है”

Leave a Comment