Aditya L1 Latest Update: ISRO ने बनाया और एक रिकॉर्ड, जानिए पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Aditya L1 Latest Update: क्या हैं आदित्य L1 मिशन?

आदित्य L1 मिशन को 2 सितम्बर 2023 को सतीश धवन स्पेस सेंटर, श्रीहरिकोटा से ISRO द्वारा लॉन्च किया गया था। यह मिशन भारत का सबसे पहला मिशन था जिसमे सूर्य का अध्ययन करने के लिए स्पेस क्राफ्ट डिज़ाइन किया गया था। इससे वास्तविक समय में सौर गतिविधियों और अंतरिक्ष मौसम में आये बदलाव का अध्ययन करने में मदद मिलेगी। 1.5 मिलियन किलोमीटर का सफर तय करने के बाद यह सॅटॅलाइट लैग्रेंज प्वाइंट-1 (एल1) पर रुकेगा। लैग्रेंज प्वाइंट-1 यह सूर्य और पृथ्वी के बीच एक ऐसा पॉइंट हैं जहा सूर्य और पृथ्वी का ग्रुत्वकर्षण बल समान हैं यानि की इस पॉइंट पर अगर कोई चीज़ रूकती हैं तो वह बिना किसी अन्य चीज़ की मदद से इसी जगह पर टिकी रहेगी।

इस सॅटॅलाइट में कुल 7 पेलोड हैं जो सूर्य की बाहरी परत, फोटोस्फीयर और क्रोमोस्फीयर का परिक्षण करने में मदद करेंगे। सौर ज्वालाएँ (Solar Flares) और कोरोनल मास इजेक्शन जैसे घटनाओ का अध्ययन करने में भी इस मिशन से काफी मदद मिलेंगी। 2 सितंबर, 2023 को अपने निर्धारित प्रक्षेपण के बाद, आदित्य-L1 16 दिनों तक पृथ्वी की कक्षा में रहेगा, जिसके दौरान यह अपनी यात्रा के लिए आवश्यक गति हासिल करने के लिए 5 प्रक्रिया (Maneuvre) से गुजरेगा। इसके बाद, आदित्य-L1 एक ट्रांस-लैग्रेंजियन 1 प्रक्रिया (Maneuvre) में जाएगा , जो एल1 लैग्रेंज पॉइंट के तरफ जाने के लिए अपने 110-दिवसीय प्रक्षेप पथ की शुरवात को दर्शाता हैं।

Aditya L1 Latest Update: क्या आदित्य L1 मिशन सफल रहा?

जी हा दोस्तों, 6 जनवरी 2024 को आदित्य L1 अपनी निर्धारित जगह पर पोहोच गया जो इसकी सफलता को दर्शाता हैं। पृथ्वी से करीब 15 लाख किलोमीटर दूर लैग्रेंज पॉइंट पर जाते ही इस इस मिशन को सफल माना गया। अब इस पॉइंट से इस सॅटॅलाइट का असली काम शुरू होगा जिसमे यह सूर्य से जुडी घटनाओ का अध्ययन करने में मदद करेगा। 

Aditya L1 Latest Update: भारत के प्रधान मंत्री श्री. नरेंद्र मोदी जी ने दी शुभकामना

भारत के प्रधान मंत्री श्री. नरेंद्र मोदी जी ने दी ISRO के टीम को इस सफल मिशन के लिए शुभकामनाए दी जिसमे उन्होंने कहा की “भारत ने एक और उपलब्धि हासिल की। भारत की पहली सौर वेधशाला आदित्य-एल1 अपने निर्धारित जगह तक पहुंची। यह सबसे जटिल और पेचीदा अंतरिक्ष अभियानों को साकार करने में हमारे वैज्ञानिकों के अथक समर्पण का प्रमाण है। मैं इस असाधारण उपलब्धि की सराहना करने में राष्ट्र के साथ शामिल हूं। हम मानवता के लाभ के लिए विज्ञान की नई सीमाओं को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे।”

Aditya L1 Latest Update: ISRO Chief  स. सोमनाथ जी का बयान

ISRO Chief श्री. सोमनाथ जी ने कहा की काफी दक्षता से इस सॅटॅलाइट को सही गति के साथ अपने निर्धारित स्थान पर पहुंचाने में हम सफल रहे और उन्होंने इस मिशन से जुडी और भी कई जानकारी दी हैं। श्री. सोमनाथ जी ने भारतीय वैज्ञानिको को इस मिशन की सफलता के लिए सबको शुभकामनाए दी। यह मिशन केवल भारत को ही नहीं बल्कि पुरे विश्व को सूर्य से जुडी हुई घटनाओ को समझने में मदद करेगी।

 

अन्य पोस्ट पढ़िए:- इस 13 साल के लड़के ने कर दिया Tetris गेम पूरा, जानिए पूरी बात

2 thoughts on “Aditya L1 Latest Update: ISRO ने बनाया और एक रिकॉर्ड, जानिए पूरी खबर”

Leave a Comment